मुफ्त सहायता के लिये टोल फ्री लाइन 1800 41 999 77 पर फ़ोन करें।

अभियान पृष्ठ पर वापस जाएं


महिलाओं को ऑनलाइन होने में मदद करना

राखी की कहानी
निशा की कहानी
वर्षा की कहानी

हेल्पिंग वीमेन गेट ऑनलाइन प्रयास को नवम्बर 2013 को गूगल इंडिया द्वारा आरम्भ किया गया था ताकि उन्‍हें इंटरनेट का प्रयोग करके सशक्त बनाया जा सके।

भारत दुनिया के उन कुछ देशों मेें से है जहां इंटरनेट का उपयोग करने वाली महिलाओं की संख्या पुरुषों की संख्या के मुकाबले बहुत कम है, यहां इंटरनेट का सक्रिय उपयोग करने वालों में केवल ~30% ही महिलाएं हैं (स्रोत : I-क्यूब डेटा, जून 2013) अध्ययनों से पता चला है कि अगर महिलाएं इंटरनेट का उपयोग करती हैं तो इससे उनके जीवन, उनकी सामाजिक स्थिति के साथ-साथ उनके समुदायों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.

आईएमआरबी के शोध के अनुसार, महिलाओं को ऑनलाइन होने से रोकने में तीन प्रमुख बाधाएं पहुंच, ज्ञान और जागरूकता हैं. इन बाधाओं को दूर करने में महिलाओं की मदद करना इस पहल का आधार है.

इसकी शुरुआत से अब तक, पूरे भारत में 5 करोड़ से अधिक लोगों में इंटरनेट के बारे में जागरूकता पैदा करते हुए, हमने रोड शो और प्रशिक्षण शिविरों के माध्यम से 5 राज्यों में 15 लाख से अधिक महिलाओं को इंटरनेट का उपयोग करना सिखाया है. शहरी भारत में इंटरनेट का उपयोग करने वाली महिलाओं की दर में सुधार दिखने के साथ, हमने इंटरनेट साथी के माध्यम से अपना पूरा ध्यान ग्रामीण भारत की ओर लगाया है.